Home News AI voice cloning: रचनात्मक उद्देश्यों के लिए एआई का उपयोग करने पर...

AI voice cloning: रचनात्मक उद्देश्यों के लिए एआई का उपयोग करने पर नैतिक सवाल उठे

0
14
AI voice cloning
AI voice cloning

0:00

Ethical questions raised over using AI voice cloning:

AI voice cloning: एआई आवाज क्लोनिंग टेक्नोलॉजी तेजी से आगे बढ़ रही है |
जहाँ किसी की आवाज को कंप्यूटर प्रोग्राम के जरिए हूबहू कॉपी किया जा सकता है। इस तकनीक को रचनात्मक उद्देश्यों के लिए प्रयोग में लाने को लेकर कई नैतिक सवाल उठ रहे हैं।

Creation of an artificial simulation of a person’s voice

निजता (Privacy): बिना अनुमति किसी की आवाज को क्लोन करना उनकी निजता का उल्लंघन करता है।
इससे उत्पीड़न और बदनामी जैसे जोखिम भी पैदा हो सकते हैं।

जिम्मेदारी (Responsibility): इस टेक्नोलॉजी का गलत इस्तेमाल होने पर कौन जिम्मेदार होगा?
यह सवाल अभी स्पष्ट नहीं है।

रोजगार पर असर (Impact on employment): एआई आवाज क्लोनिंग से कुछ क्षेत्रों में नौकरियों पर असर पड़ सकता है, जैसे वॉयसओवर आर्टिस्ट या डबिंग कलाकार।

यह टेक्नोलॉजी फिल्मों, गेम्स और अन्य रचनात्मक कार्यों में यथार्थवादी आवाजें देने में मदद कर सकती है।

यह टेक्नोलॉजी भाषण बाधित लोगों को अपनी आवाजें वापस पाने में मदद कर सकती है।

इस टेक्नोलॉजी का उपयोग विलुप्त हो रही भाषाओं को संरक्षित करने के लिए किया जा सकता है।

एआई आवाज क्लोनिंग एक शक्तिशाली टेक्नोलॉजी है जिसके कई फायदे और नुकसान हैं।
इसका नैतिक रूप से इस्तेमाल करना महत्वपूर्ण है और इसके विकास और उपयोग को लेकर स्पष्ट नियम-कानून बनने चाहिए।

Join WhatsApp GroupClick Here
Join TelegramClick Here

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here